Agriculture Study

Isogamy in Hindi ( Isogamy क्या है ?)

Isogamy in Hindi

इस Article में हम Isogamy in Hindi ( Isogamy क्या है ?) के बारे में पढ़ेंगे।

Isogamy in Hindi ( Isogamy क्या है ?)

यौन प्रजनन का वह रूप जिसमें समान आकार के युग्मक शामिल हो कर अपनी संख्या बढ़ाने की चेष्टा करते हैं आइसोगैमी कहलाता है। इस प्रक्रिया में अधिकांश एककोशिकीय जीव शामिल होते हैं। इस प्रक्रिया की विशेषता यह है कि इसमें दोनों युग्मक एक जैसे दिखते हैं और उन्हें आम तौर पर नर मादा के रूप में ना तो पहचाना जा सकता है ना बांटा जा सकता है।

इससे गुजरने वाले जीवों के संभोग के बारे में एक धारणा है कि वे विभिन्न प्रकार होते हैं। आमतौर पर समझने के लिए इन्हें प्लस और माइनस के रूप में वर्गीकृत किया गया है।आइसोगैमी के विभिन्न रूपों में मोटाइल कोशिकाओं की आइसोगैमी और गैर-प्रेरक कोशिकाओं की आइसोगैमी प्रमुख है। आइसोगैमी शब्द का मतलब है समान विवाह और शब्द का उपयोग सबसे पहले 1887 में किया गया।

Characteristics of isogamous species in Hindi ( आइसोगैमस प्रजातियों के लक्षण )

आइसोगैमस प्रजातियों में संभोग दो प्रकार से होता हैं। लेकिन कुछ प्रजातियों में आइसोगैमस के दो से अधिक संभोग प्रकार भी पाएं जाते हैं।इनकी संख्या आमतौर पर दस से कम होती है। कुछ अत्यंत दुर्लभ मामलों में एक प्रजाति के हजारों प्रकार से संभोग संभव है।हालांकि ऐसे सभी मामलों में निषेचन तब ही होता है जब दो अलग-अलग संभोग प्रकारों के युग्मक एक युग्मज बनाने के लिए आपस में विलीन होते हैं । आइसोगैमी अनिसोगैमी के लिए मुल आधार कहा जा सकता है।

Also Read – Phytogeography In Hindi (पादप भूगोल)

Evolution of Isogamy in Hindi ( Isogamy का विकास )

अध्ययन करने पर यह लगता है कि आइसोगैमी यौन प्रजनन का पहला चरण रहा होगा और कई पौधों और जानवरों की कई पीढ़ियां बीत जाने के बाद प्रजनन का यह रूप स्वतंत्र रूप अनिसोगैमस प्रजातियों में विकसित हुआ। जिसमें नर और मादा दो प्रकार के युग्मक बने। जिसमें दोनों युग्मक बराबर आकार के भी नहीं होते। मादा युग्मक नर की तुलना में बहुत बड़ा होता है और इसमें हिलने-डुलने की क्षमता नहीं होती। है। यह पैटर्न शारीरिक बाधाओं के लिए जिम्मेदार है जो संभोग और प्रजनन के दौरान दो युग्मको को आसानी से मिलने में मदद करता है। आइसोगैमी मूल रूप से एककोशिकीय प्रजातियों से जुड़ा हुआ है। लेकिन बहुत अधिक संभावना है कि यह बहुकोशिकीय प्रजातियों मे भी हो।

Isogamy और Heterogamy में अंतर

  1. Isogamy एक समान युग्मक का एक संलयन है। जबकि Heterogamy विभिन्न युग्मक का एक संलयन होता है |

Isogamy कहाँ पायी जाती है ?

ये शैवाल और प्रोटिस्ट में पायी जाती है। परन्तु माना जाता है, की सभी जानवरो की प्रजातियां anisogamous है। जो की शुक्राणु या छोटे बड़े गतिशील युग्मक अंडे पैदा करती है।

Isogamy और Anisogamy और Oogamy में अंतर

 

Isogamy Anisogamy Oogamy
Isogamy समान आकार के युग्मको का संलयन है। Anisogamy विभिन्न आकार के युग्मको का संलयन है। oogamy छोटे गतिशील नर युग्मकों के साथ बड़े गतिशील मादा युग्मकों का संलयन है।
इसमें नर और मादा दोनों युग्मन या तो गतिशील होते है या फिर गतिहीन होते है। इसमें नर और मादा दोनों युग्मन या तो गतिशील होते है या फिर गतिहीन होते है। इसमें अण्ड कोशिका गतिहीन होती है। और शुक्राणु कोशिका गतिशील होती है।

About the author

adminagricultureinhindi

मेरा नाम विशाल राठौर है। मै इस Website का लेखक हूँ। इस Website पे मै Agriculture Study के लेख प्रकाशित करता हूँ।

Leave a Comment